नई दिल्ली । केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मन्त्री डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि कोविड -19 से प्रभावित दुनिया के तमाम देशों के मुकाबले भारत बेहतर स्थिति में है। हर्षवर्धन ने देश में कोविड -19  की वर्तमान स्थिति, भारत द्वारा उठाए जा रहे कदमों और लॉक डाउन की जरूरत जैसे विभिन्न पहलुओं पर अपने विचार रखे। लॉकडाउन से जुड़े एक सवाल पर उन्होंने कहा कि इस बारे में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से राय मांगी है। विशेषज्ञों की राय भी अहम है। सभी के विचारों पर मंथन के बाद ही फ़ैसला होगा कि लॉक डाउन पर देश कैसे आगे बढ़ेगा। उन्होंने फिर दोहराया कि आज के दौर में कोरोना वायरस कोविड 19 से बचाव का एक मात्र इलाज़ सोशल वैक्सीन है। लॉक डाउन और सोशल डिसटेंसिंग उसी वैक्सीन का रूप हैं। इस बीमारी से 80 प्रतिशत लोग खुद ठीक हो जाते हैं। उन्होंने कहा  कि दिल्ली में एक धार्मिक प्रकरण से कोविड 19 को नियंत्रित करने के प्रयास को धक्का लगा है। इस घटना के बाद देश में कोरोना से जुड़े मामलों में  तेजी आई है। उन्होंने लोगों से अपील की है कि वे सरकार की एडवाइज़री को माने एवं लॉक डाउन और सोशल डिसटेंसिंग के नियमों का सख्ती से पालन करें। विशेष कर अपने घर में बुजर्गो का ख़ास ख्याल रखें और आपस में एक मीटर की दूरी को रखते हुए कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के अभियान में योगदान करें।